मखाना की खेती

मखाना की खेती कर अपनी आमदनी बढायें किसान

माननीय मंत्री, कृषि विभाग, बिहार डा. प्रेम कुमार ने कहा की मखाना जलाशयों, तलाबों, रुके हुए पानी में पैदा होने वाला एक अत्यंत ही पौष्टिक एवं पूर्णरूपेण प्राकृतिक, बिना किसी रसायन के प्रयोग से उत्पन्न होने वाली स्वस्थ, शुद्ध एवं गुणकारी नगदी फसल है | राज्य सरकार द्वारा राज्य में मखाना उत्पादक कृषकों की आमदनी बढ़ाने हेतु राष्ट्रीय बागवानी मिशन एवं मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना अंतर्गत मखाना का क्षेत्र विस्तार अवयव को शामिल किया गया है | इसके तहत मखाना उत्पादक किसानों को प्रोत्साहित किया जाएगा | Read : मखाना की खेती about मखाना की खेती

अखरोट की खेती

अखरोट  वैज्ञानिक नाम  पतझड़ करने वाले बहुत सुन्दर और सुगन्धित पेड़ होते हैं। इसकी दो जातियां पाई जाती हैं। 'जंगली अखरोट' 100 से 200 फीट तक ऊंचे, अपने आप उगते हैं। इसके फल का छिलका मोटा होता है। 'कृषिजन्य अखरोट' 40 से 90 फुट तक ऊंचा होता है और इसके फलों का छिलका पतला होता है। इसे 'कागजी अखरोट' कहते हैं। इससे बन्दूकों के कुन्दे बनाये जाते हैं। Read : अखरोट की खेती about अखरोट की खेती

आंवला की खेती

Pages

Subscribe to VillageDevelopment RSS