भिण्डी की खेती

Pooja's picture

भिण्डी एक सब्जी है। इसका वृक्ष लगभग १ मीटर लम्बा होता है। बनारस में इसे 'राम तरोई' कहते हैं और छत्तीसगढ में इसे 'रामकलीय' कहते हैं। बंगला में स्वनाम ख्यात फलशाक, मराठी में 'भेंडे', गुजराती में 'भींडा', फारसी में 'वामिया' कहते हैं।
भिंडी का फूल 2 तोला पीस कर पावभर गाय के मठा में मिलाकर पीने से गिरती हुई धात बन्द हो जाती है | मिश्री 1 तोला भिंडी की जड 3 तोल, सफेद इलायची 1 माशा, काली मिर्च 1/2 माशा घोट कर पीने से, अथवा कच्ची भिंडी मिश्री के साथ खाने से सुजाक रोग शांत हो जाता है | भिंडी की तरकारी भंरवा और भुंजियाँ दोनों प्रकार से बहुत स्वादिष्ट बनती है और अरूचि को दूर करती है