करौंदे की फसल में लागत शून्य और मुनाफा भरपूर

करौंदे की फसल में लागत

करौंदा एक बहुत सहिष्णु पौधा है | यह उष्ण तथा उपोष्ण जलवायु में उगाया जा सकता है | लेकिन अधिक बरसात और जलमग्न भूमि इसके लिए नुकसानदायक है |

 

भूमि :-

करौंदा अनेक प्रकार की भूमि में तथा कम उपजाऊ भूमि में भी उगाया जा सकता है लेकिन अच्छी बढवार और उपज (पैदावार) के लिए अच्छी भूमि होना आवश्यक है |

 

प्रवर्धन :-

करौंदे का प्रवर्धन बीज व वानस्पतिक तरीकों,जैके कटिंग,इनारचिंग तथा लेयरिंग से कर सकते है |

 

फासला :-

फरवरी-मार्च व सितम्बर-अक्टूबर के महीने में 60 गुना 60 गुना 60 गुना सेटीमीटर के गड्ढे 3 गुना 3 मीटर की दूरी पर तैयार कर पौधे लगाने चाहिए |

 

काट-छांट :-

पौधा लगते समय इसे किसी बांस का सहारा दें ताकि इसकी बढ़वार सीधी रहे | समय-समय पर अवांछित शाखाओं को निकालते रहें | फलित पौधे को बहुधा कटाई की आवश्यकता नहीं होती फिर भ अच्छे आकर देने के लिए फालतू टहनियों की काट-छांट आवश्यक हो जाती है | रोगग्रस्त शाखाओं को निकाल दें | पुरानी शाखाओं में बदलने के लिए कटाई-छंटाई करते रहे |

 

बीच की फसल :-

पौधा लगाने के पहले वर्ष खरपतवार काफी समस्या पैदा कर सकते है | जिन्हें निराई-गुड़ाई द्वारा निकालते रहना चाहिए | करौंदे की लगातार फसल में पहले 2 वर्ष तक वर्षा में तक वर्षा में उगाई जाने वाली सब्जियों की काश्त की जा सकती है |

 

खाद एवं उर्वरक :-

करौंदा के पौधे को 15-20 किलो गोबर की गली-सड़ी खाद प्रति पौधा प्रति वर्ष दें | इसे वर्षा ऋतु के आगमन पर दल दें वर्ना पौधों की बढ़वार कमजोर पड़ जाएगी |

 

सिंचाई:-

करौंदा प्राय; कम बढ़ने वाला पौधा है | एक बार भूमि में अच्छी तरह लग जाने पर इसे पानी की आवश्यकता नहीं रहती है |

 

फलन:-

करौंदा में तृतीय वर्ष से फूल व फल आने शुरू हो जाते है तथा फरवरी के महीने में फूल आते है और फल अगस्त के महीने में पककर तैयार हो जाता है | हालांकि कच्चे फल मई मास में ही मिलने शुरू हो जाते है |

 

फलों की तुड़ाई:-

कच्चे व पके फलों की तुड़ाई की जाती है | एक ही समय पर सभी फल तोडना असम्भव है | इसे दो या तीन बार करते है फलों का रंग बदलना ही फलों की परिपक्वता की निशानी है | सामान्यत: 4-5 किलो फल प्रति पौधा लिए जा सकते है |
 

 

करौंदा की खेती के बारे में जानने के लिए निचे दिए गए विडियो के लिंक पर क्लिक करें |

Category: 

Scholarly Lite is a free theme, contributed to the Drupal Community by More than Themes.